शराब बन गयी जान का दुश्मन

दक्षिणी दिल्ली (जनमत की पुकार)। वसंतकुंज साउथ थाने की पुलिस ने एक नेपाली युवक की सनसनीखेज हत्या की गुत्थी को लाश के पास से मिली शराब की बोतले के बारकोड से सुलझाकर हत्या के आरोपी को सलाखों के पीछे पहुंचा दिया है। साउथ-वेस्ट जिला पुलिस उपायुक्त देवेन्द्र आर्या ने बताया कि गत 7 जून को वसंत कुंज इलाके के एक फॉर्म में एक 30-35 साल के युवक की खून से लथपथ हालत में लाश होने की सूचना मिली थी।
मौके पर पहुंची पुलिस को लाश के पास ही खून से सने पत्थर और ईंट भी पड़े हुए थे। साथ ही पास में शराब की बोतलें भी पड़ी हुई थी। पुलिस ने शव की पहचान के लिए उसे शवगृह भेज दिया और छानबीन शुरु कर दी। एसीपी रमेश कुमार की निगरानी और इंस्पेक्टर संजीव कुमार के नेतृत्व में एसआई रोहित कुमार, संदीप शर्मा, सुभाष, भगवान सिंह, संदीप सुथर, एएसआई विजेन्दर सिंह व अन्य पुलिसकर्मियों की टीम ने आरोपी की तलाश शुरु की।
इस ब्लाइंड मर्डर केस को सुलझाने के​ लिए पुलिस के पास कोई खास सुराग नहीं था। शव के पास से पुलिस को सुराग के तौर पर सिर्फ शराब की बोतलें मिली थीं। पुलिस ने शराब के बोतल के बारकोड से पता लगाया कि उक्त बोतल को वसंतकुंज के डीडीए मार्केट स्थित दुकान से खरीदी गई थी।
पुलिस उस दुकान तक पहुंची और उसका सीसीटीवी फुटेज खंगाला तो मृतक के साथ एक शख्स फुटेज में नजर आया। कई ऑटो चालक से पूछताछ, 20 हजार से ज्यादा मोबाइल नंबरों की जांच के बाद पुलिस ने आरोपी को एक शराब की दुकान के पास ट्रेस कर उसे दबोच लिया।
आरोपी ने पूछताछ में बताया कि मृतक के साथ शराब पीने के दौरान उनका किसी बात को लेकर विवाद हो गया था। इसी बीच गत 23 जुलाई को मृतक के कजन ने उसकी पहचान नेपाल निवासी किशन कर्की (30) के तौर पर की।
Share Button

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *