दिल्ली गुड्स ट्रांसपोर्ट एसो. द्वारा आयकर की धारा 44AE में संशोधन की मांग

जनमत की पुकार
नई दिल्ली। दिल्ली गुड्स ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन ने केंद्रीय वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण से आयकर की धारा सेक्शन 44AE (2018-19 संशोधित) में संशोधन की मांग करते हुए ट्रांसपोर्टरों के लिए बढ़े हुए टैक्स वापस लेने का अनुरोध किया है। इस बारे में एसोसिएशन के अध्यक्ष परमजीत सिंह गोल्डी का कहना है कि वित्त मंत्रालय द्वारा इनकम टैक्स सेक्शन 44 AE (2018-19) के बजट में संशोधन किए जाने के बाद, जो आयकर पहले प्रति ट्रक प्रतिवर्ष 90000 रुपए ली जाती थी, उसे सीधा 300000 रुपए तक बढ़ा देना व्यावहारिक नहीं है।

इसके एवज में दलील देते हुए परमजीत सिंह गोल्डी ने तर्क रखा कि कभी मुनाफे का धंधा माना जाने वाला ट्रांसपोर्ट व्यवसाय आज जबर्दस्त मंदी का शिकार है। स्थिति इतनी बुरी है कि ट्रक मालिक अपने ट्रक की क़िस्त तक नहीं जमा कर पा रहे हैं। ऊपर से लगभग दोगुना हो चुके थर्ड पार्टी इंश्योरंस, डीजल के बढ़े दाम और सरकार द्वारा लिए जाने वाले विभिन्न टैक्स जैसे टोल टैक्स, ग्रीन टैक्स आदि ने ट्रांसपोर्टरों की कमर तोड़कर रख दी है। ऐसे में ट्रांसपोर्टर अपने आपको बढ़े हुए टैक्स देने में अक्षम मान रहे हैं।

 

Share Button

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *