भारतीय स्पिनरों रविचंद्रन अश्विन और रविंद्र जडेजा की तरह खेलना चाहते हैं दक्षिण अफ्रीका के स्पिनर केशव महाराज

जनमत की पुकार
विशाखापत्तनम। दक्षिण अफ्रीका के सबसे अनुभवी स्पिनर केशव महाराज चाहते हैं कि बुधवार से यहां शुरू हो रही तीन टेस्ट की सीरीज के दौरान उनके प्रदर्शन में भारतीय स्पिनरों रविचंद्रन अश्विन और रविंद्र जडेजा की तरह निरंतरता हो। बायें हाथ के स्पिनर महाराज ने 25 टेस्ट में 94 विकेट चटकाए हैं। काउंटी क्रिकेट में उन्होंने सफल प्रदर्शन किया जिसके बाद उन्हें उम्मीद है कि वह भारत के शीर्ष क्रम के बल्लेबाजों के लिए हालात ‘असहज’ कर देंगे। पहली बार भारत के टेस्ट दौरे पर आए महाराज ने कहा कि तब अच्छा लगता है जब लोग आपकी क्षमता की सराहना करते हैं। जडेजा और अश्विन को देखिए।

अश्विन के पास काफी वैरिएशन हैं और जडेजा चीजों को सामान्य रखता है लेकिन अहम चीज निरंतरता है और इससे बल्लेबाज के लिए चीजें असहज हो जाती हैं। मैं भी ऐसा कर सकता हूं और एक छोर से अपना काम कर सकता हूं। महाराज ने कहा कि स्पिन अहम भूमिका निभाएगी लेकिन रिवर्स स्विंग भी सीरीज में बड़ी भूमिका निभा सकती है। उन्होंने कहा कि उप महाद्वीप में आप उम्मीद कर सकते हो कि गेंद टर्न करेगी और यही कारण है कि टीमें यहां अतिरिक्त स्पिनर के साथ आती हैं।

जहां तक भारतीय बल्लेबाजों को गेंदबाजी करने का सवाल है तो आप सर्वश्रेष्ठ के खिलाफ ही खुद को परख सकते हैं। यह सीरीज मुझे बताएगी कि मैं कितना अच्छा हूं और मैं यहां अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खेलने लायक हूं या नहीं। महाराज ने कहा कि स्पिन के अलावा रिवर्स स्विंग भी महत्वपूर्ण होगी। दुनिया भर में प्रत्येक गेंदबाजी इकाई रिवर्स स्विंग उपलब्ध होने पर इसका फायदा उठाना चाहती है। भारत के पास मजबूत गेंदबाज हैं जिसमें मोहम्मद शमी भी शामिल हैं जिन्हें कभी-कभी खेलना बेहद मुश्किल हो जाता है। अगर गेंद रिवर्स स्विंग करने लगती है तो हमारे पास भी शानदार गेंदबाज हैं जो हालात का फायदा उठा सकते हैं।

दक्षिण अफ्रीका के तेज गेंदबाजी आक्रमण में वर्नन फिलेंडर, कागिसो रबादा और लुंगी एनगिडी शामिल हैं। भारतीय टीम को अपने मुख्य तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह की सेवाएं नहीं मिलेंगी जो कमर में ‘स्ट्रेस फ्रेक्चर’ के कारण सीरीज से बाहर हो गए हैं। महाराज ने कहा कि भारत को इस तेज गेंदबाज की काफी कमी खलेगी।उन्होंने कहा कि यह भारत के लिए बड़ा नुकसान है। लेकिन भारत के पास उनकी जगह लेने के लिए स्तरीय गेंदबाज हैं। उमेश यादव एक अन्य विश्व स्तरीय गेंदबाज है। दक्षिण अफ्रीका ने वर्षा से प्रभावित अभ्यास मैच में उम्दा प्रदर्शन किया।

एडन मार्कराम (100) ने शतक जड़ा जबकि तेंबा बावुमा (87) और फिलेंडर (47) ने भी उपयोगी पारियां खेली। महाराज ने इस मैच में तीन विकेट चटकाए थे। दक्षिण अफ्रीका को चार साल पहले भारत में बुरी तरह से हार का सामना करना पड़ा था और तब जडेजा और अश्विन ने मेहमान टीम के बल्लेबाजों को काफी परेशान किया था। महाराज ने कहा कि दक्षिण अफ्रीका की यह नई टीम अतीत के नतीजों को अधिक तूल नहीं देना चाहती।

 

Share Button

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *