तुर्की में भूकंप से 18 लोगों की मौत, सैकड़ों अन्य घायल

पूर्वी तुर्की में आए शक्तिशाली भूकंप में कम से कम 18 लोगों की मौत हो गई और सैकड़ों अन्य घायल हो गए हैं। बचाव दल शनिवार तड़के भी ढह गई इमारतों के मलबे में से जीवित बचे लोगों की तलाश में जुटे रहे। भूकंप की तीव्रता 6.8 मापी गई। भूकंप के बाद कम से कम 30 लोग लापता हो गए। इस भूकंप का केंद्र पूर्वी एलाजिग प्रांत के सिवराइस शहर में था।

एलाजिग में रहने वाले 47 वर्षीय मेलाहाट कैन ने बताया, “यह काफी डरावना था, फर्नीचर हमारे ऊपर गिरने लगा। हम बाहर की ओर भागे।” राष्ट्रपति रजब तैयब एर्दोआन ने कहा कि भूकंप से प्रभावित लोगों की मदद के लिए सभी कदम उठाए जा रहे हैं। उन्होंने टि्वटर पर कहा, “हम अपने लोगों के साथ हैं।”

डर के चलते अपने घरों से भागे लोग हाड़ कंपा देने वाली ठंड में अपने आप को गरम रखने के लिए सड़कों पर आग जलाकर बैठे हैं। तुर्की सरकार की आपदा एवं आपात प्रबंधन एजेंसी (एएफएडी) ने कहा कि सिवराइस में स्थानीय समयानुसार रात करीब आठ बजकर 55 मिनट पर भूकंप आया।

तुर्की भूकंप के लिहाज से संवदेनशील क्षेत्र है। तुर्की के टेलीविजन में तस्वीरों में लोगों को डर से घरों से बाहर भागते हुए और एक इमारत की छत पर आग लगते हुए दिखाया गया। गृह, पर्यावरण एवं स्वास्थ्य मंत्रियों ने बताया कि कम से कम 18 लोगों की मौत हो गई जिनमें से 13 एलाजिग प्रांत के हैं तथा पांच अन्य पड़ोसी मालात्या प्रांत के हैं। उन्होंने बताया कि करीब 553 लोग घायल हैं।

गृह मंत्री सुलेमान सोयलु ने कहा, “मालात्या में मलबे में कोई फंसा नहीं है लेकिन एलाजिग में 30 नागरिकों का पता लगाने के लिए तलाश एवं बचाव अभियान चल रहा है।” मालात्या में भूकंप पीड़ितों को शरण देने के लिए खेल केंद्र, स्कूल और गेस्ट हाउसों को खोला गया है।

 

Share Button
Share it now!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *