टीम में सिलेक्शन न होने पर रात भर रोते रहते थे विराट कोहली, क्रिकेटर ने खुद किया खुलासा

कोविड-19 महामारी को लेकर टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली ने शानदार बयान दिया है। विराट कोहली का कहना है कि लोगों को इस महामारी ने और भी ज्यादा उदार बना दिया है। उन्होंने कहा कि डॉक्टर्स और पुलिसकर्मियों जैसे कोरोना वॉरियर्स की तरफ संकट टलने के बाद भी हमें कृतज्ञता और सम्मान का भाव हमेशा रहना चाहिए।

हाल ही में विराट और अनुष्का ने सफलता मिलने से पहले अपने संघर्षों के बारे में एक ऑनलाइन क्लास में विस्तार से बताया है। उसके बाद कोरोना वायरस पर उन्होंने अपने विचार रखते हुए कई बातें कहीं। कोरोना वायरस पर विराट कोहली ने कहा कि, इस संकट का एक सकारात्मक पहलु यह है कि एक समाज के तौर पर हम अधिक उदार हो गए हैं। हम इस जंग में मोर्चे पर जुटे योद्धाओं के प्रति कृतज्ञता दिखा रहे हैं। चाहे वे पुलिसकर्मी हों, डॉक्टर या नर्सें।

महेंद्र सिंह धोनी मोबाइल में देख रहे थे फिल्म तभी पत्नी साक्षी ने ध्यान पाने के लिए की ऐसी शरारत, तस्वीर हुई वायरल

उन्होंने आगे कहा, उम्मीद है कि संकट से उबरने के बाद भी यह जज्बा कायम रहेगा। विराट ने कहा, जीवन के बारे में कुछ नहीं कह सकते। जिससे खुशी मिले, वह करो। हर समय तुलना नहीं करनी चाहिए। इस संकट के बाद जीवन अलग हो जाएगा।

विराट कोहली रात भर रोते रहे थे 

इस कार्यक्रम के दौरान अभिनेत्री और विराट की पत्नी अनुष्का शर्मा ने भी अपने विचार व्यक्त किये। अनुष्का ने कहा, इन सबसे भी सीख ही मिली है। जीवन में कुछ भी अकारण नहीं होता। यदि ये लोग मोर्चे पर डटे नहीं होते तो हमे बुनियादी चीजें भी नहीं मिल पाती।

उन्होंने आगे अपने बयान में कहा, इसने हमें सिखाया है कि कोई दूसरे से खास नहीं है। स्वास्थ्य सबसे बढ़कर है। अब हम एक समाज के तौर पर अधिक जुड़ाव महसूस कर रहे हैं। इस दौरान कोहली से यह सवाल भी पूछा गया कि उन्होंने खुद को सबसे ज्यादा किस पल में असहाय महसूस किया था। बता दें कि एक बार दिल्ली स्टेट टीम में विराट कोहली का चयन नहीं हुआ था जिसके बाद वह पूरी रात रोते रहे थे।

टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली ने इस पर कहा, जब शुरुआत में प्रदेश की टीम में भी मेरा चयन नहीं हो पा रहा था। मैं पूरी रात रोता रहा था। मैंने अपने कोच से पूछा कि मेरा चयन क्यों नहीं हो रहा। कोहली ने आगे कहा, जीवन के बारे में कुछ नहीं कह सकते। जिससे खुशी मिले, वह करो और हर समय तुलना नहीं करते रहना चाहिए। इस संकट के बाद जीवन अलग हो जाएगा।

मलिंगा को मिला आईपीएल का सर्वश्रेष्ठ गेंदबाज का सम्मान

अनुष्का के साथ से कोहली ने क्या सीखा 

साल 2013 में एक शैम्पू विज्ञापन के एड शूट के दौरान विराट कोहली और अनुष्का शर्मा की पहली बार मुलाकात हुई थी। विराट के कहा, हमने एक दूसरे से जो सीखा लिया है, अनुष्का के व्यक्तित्व को देखते हुए, स्थितियों में वह किस तरह से सुलझी हुईं रहती हैं उसको देखकर मुझे वास्तव में इससे प्रेरणा मिली।

विराट ने आगे कहा, यहां तक कि जब चीजें कठिन होती हैं तो आपको अपने अहंकार को निगलना पड़ता  विपरीत परिस्थितियों में भी रहना पड़ता है, अपने तरीके से लड़ते रहें और आखिरकार आपको एक रास्ता मिल जाएगा। इसलिए मैंने उन्हे ये करते देखा है और जो मैंने उनसे सीखा है।

Share Button

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *