नवादा की बेटी ईलाज के लिए दर—दर भटक रही, प्रधानमंत्री मोदी से मदद की लगाई गुहार

  • उपेन्द्र राज

नवादा। जिला के रजौली हरदिया पंचायत के एक गरीब परिवार ने अपने बेटी के इलाज के लिए दर—दर की ठोकरें खाने को मजबूर हैं। कोई सुनने वाला नहीं है। पीड़ित परिवार ने जनमत की पुकार को बताया कि वे अपनी बेटी के इलाज के लिए जमीन—जायदाद सब बेच दिये हैं। करीब 10 लाख रुपये खर्च करने के बावजूद बेटी का ईलाज नहीं हो पाया। पटना, रांची, रजौली, नवादा, तिलैया सारे जगह इलाज करवा लिया मगर बेटी ठीक नहीं हुई। कई डॉक्टरों ने ईलाज के नाम पर मोटा पैसा लिया व महंगी—महंगी दवाई चलाई फिर भी डॉक्टरों ने हाथ खड़े कर दिये। डॉक्टरों ने कहा, इस बीमारी का ईलाज उनके पास नहीं है।
पीड़ित परिवार ने प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के तहत निर्गत हेल्प कार्ड की चिकित्सा द्वारा अनदेखी करने का आरोप लगाया है। इस पीड़ित परिवार ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, सांसद नवादा जिला के चंदन सिंह, जिलाधिकारी अनुमंडल रजौली के सारे अधिकारियों व जनप्रतिनिधियों से लगातार गुहार लगा रहा है, मगर इस गरीब बेसहारा परिवार को कोई सुनने वाला नहीं है।

Video Link :

https://youtu.be/U38SjGR6voE

पीड़ित परिवार ने जनमत की पुकार समाचार पत्र के माध्यम से गुहार लगाई है कि केन्द्र सरकार से इन्हें मदद मिले। प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना की तरफ से जो कार्ड निर्गत किया गया है वह 500000 का मुफ्त में इलाज कराने का आश्वासन दिया गया है। पीड़ित परिवार ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी व केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन से मदद की गुहार लगाई है।

Share Button

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *