परमान नदी में उफान से दर्जनों गांवों में घुसा बढ़ा पानी

  • सूरज कुमार झा

अररिया : परमान नदी में पानी के उफान से दर्जनों गांवों में पानी का दायरा बढ़ने लगा है। जगह-जगह सड़क के टूटने से आवागमन संकट उत्पन्न हो गया है। नाव के अभाव में लोग ड्राम के नाव पर जानलेवा यात्रा करने के लिए विवश है। कहते हैं कि नेपाल से आ रही पानी एवं लगातार बारिश को ले जहां परमान नदी उफान पर है वही पिपरा स्थित टूटे तटबंध होकर दर्जनों गांवों में पानी का रफ्तार बढ़ता जा रहा है ।

अररिया में बाइक सवार समेत दो युवक डूबे

खासकरपिपरा ,मटियारी, सहबाजपुर, कुशमाहा, अमोना, अमहारा, खेरखां, भगकोहलिया, रमैख, वासपुर, मझूआ आदि पंचायतों के गांवों में पानी के तबाही से लोग परेशान है। पीडि़तों का मानना है कि अगर इंद्र देवता की नाराजगी कायम रही तो आने वाले समय में तबाही का दायरा बढ़ सकता है। पिपरा पंचायत के मुकेश साह, रमेश मंडल, चंदन कुमार साह, नरेश मंडल ,धर्मानंद मंडल आदि ने बताया कि टूटे बांध को लेकर कामत टोला ,गड़हा ,टप्पू टोला, नया टोला, खमकौल, पोटरी आदि कई गांव में पानी को लेकर तबाही का दायरा बढ़ता जा रहा है। इधर परमान नदी से सटे अमहारा पंचायत के वार्ड संख्या नौ में विगत वर्ष की तरह ही पानी ने कब्जा जमा लिया है। घरों व दरवाजों में पानी घुस आए है। पीड़ित ग्रामीण रामसेवक साह, शुभम कुमार, बद्री प्रसाद साह, धर्मेंद्र साह, जितेंद्र साह, शैलेंद्र साह, संतोष साह ,प्रकाश साह, प्रदीप साह ,राजकुमार साह ,विनोद साह, भोला साह सहित अन्य ग्रामीणों ने बताया कि उन लोगों को बाढ़ से हर साल तबाही उठाना पड़ता है । परमान किनारे रहने के कारण उन लोगों का घर आंगन में पानी तबाही मचा रही है । इधर अमहारा के बीएम टोला में भी पानी का कहर देखा जा सकता है। पीड़ितों में अशफाक आलम, मसूद आलम, नूर हक आदि ने बताया कि उन लोगों के घरों में पानी घुस जाने से वे लोग काफी परेशान हैं ।

श्रीराम सेना संगठन के अध्यक्ष प्रदीप देव के द्वारा किया गया एक टीम का गठन, जो कर कर रहे है बाढ़ ग्रस्त क्षेत्र का दौरा, लोगो को जल्द पहुचायेगा रहत

जनप्रतिनिधि एवं अधिकारियों द्वारा विगत 4 साल तक टूटे तटबंध की मरम्मत नहीं करवाने को लेकर लोग आक्रोशित है। टूटे बांध के कारण प्रतिवर्ष लाखों की आबादी बर्बाद होती रही है। इन पीडि़तों ने अधिकारियों एवं जनप्रतिनिधियों पर आक्रोश जताते हुए उन लोगों को अपने हाल पर छोड़ देने तथा जानबूझकर समस्याओं का समाधान नहीं करने का आरोप लगाया है । इधर फारबिसगंज सीओ संजीव कुमार ने बीडीओ अमित आनंद के साथ प्रभावित क्षेत्र का दौरा किया। पिपरा, मटियारी, शाहबाजपुर, कुशमाहा, अमहारा, खेरखां, रमै, खाबसपुर, भागकोहलिया सहित अन्य पंचायतों में दौरा के बाद अधिकारियों ने पानी घुसने की पुष्टि की। उन्होंने मामले की मॉनिटरिंग करने की बात कही। इधर जैसे जैसे पानी का दायरा बढ़ता जा रहा है वैसे—वैसे पिपरा के टूटे तटबंध की मरम्मत नहीं होने से क्षेत्रवासियों को जनप्रतिनिधि एवं प्रशासनिक अधिकारी के खिलाफ आक्त्रोश बढ़ता जा रहा है। लोगों का कहना है कि समय से पूर्व बाढ़ की तबाही शुरू हो गई है।

Share Button
Share it now!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *