सरकारी जांच रिपोर्ट में भारी गड़बड़ियां: निगेटिव को पाॅजिटिव बता रही सरकारी रिपोर्ट

  • जनमत की पुकार

भागलपुर (गौतम सुमन गर्जना)। जिले में वैश्विक महामारी कोरोना  की जांच प्रक्रिया में  व्यापक तौर पर  गड़बड़ी  देखने को मिल रही है। मिली जानकारी के अनुसार इन दिनों  सरकारी जांच रिपोर्ट में भारी गड़बड़ियां सामने आ रही हैं,जो सरकारी जांच रिपोर्ट मरीज की पाॅजिटिव आती है, अगर उसकी प्राइवेट में फिर से जांच की जाए तो वह निगेटिव निकल रही है। जिले के  जवाहरलाल नेहरू मेडिकल काॅलेज व सदर अस्पताल में ऐसे कई मामले सामने आए, जिनमें कोरेाना पाॅजिटिव निकले हैं और  ऐसे लोगों ने परिजनों की एहतियातन जांच कराई, जिसमें एक की रिपोर्ट पाॅजिटिव आई। इसके बाद उनका परिवार तनाव में आ ज रहा है। ऐसे लोग सरकारी लैब में पहला सैंपल देते और उनका रिपोर्ट पॉजिटिव आ जाता है,वहीं जब वे लोग प्राइवेट लैब में जांच कराते हैं तो रिपोर्ट निगेटिव मिलता है। ऐसे कई मामले सामने आने से लोगों में बेचैनी और दहशत का माहौल उत्पन्न हो गया है। एक व्यक्ति ने दो महीने पहले अपनी जांच करवाई थी, उसकी रिपोर्ट निगेटिव थी, अचानक उसे कोविड सेंटर से फोन गया कि आपकी रिपोर्ट पाॅजिटिव है और क्वारेंटीन सेंटर भेजना है। उसने घबराकर एसडीएम को फोन किया और बताया कि दो महीने पहले रिपोर्ट निगेटिव आ चुकी है तो अब पाॅजिटिव क्यों बताया जा रहा है। एसडीएम ने जांच की तो पता चला कि जिस पोर्टल पर निगेटिव और पाॅजिटिव मरीजों की एंट्री होती है, उसी व्यक्ति के नाम से मिलता-जुलता एक मरीज पाॅजिटिव मिला था। ठीक से रिपोर्ट नहीं देखी और न ही पता देखा जो दो महीने पहले निगेटिव आया था, उसे पाॅजिटिव बताकर सूचना कोविड सेंटर पर दे दी गई। पहले भी कुछ मरीजों की रिपोर्ट में गड़बड़ी हो चुकी है। इन जांचों को लेकर भी सवाल उठ रहे हैं कि रिपोर्ट सही नहीं आ रही है। हाल के दिनों में  इसी तरह जांच प्रक्रिया में सबसे बड़ी चौंकाने वाली रिपोर्ट यह यह सामने आया था कि एक छात्र ने सैंपल दिया भी नहीं था और कोबिट सेंटर से उन्हें उनकी रिपोर्ट निगेटिव भेज दी गई थी। इस तरह की जांच प्रक्रिया में गड़बड़ी उत्पन्न होने से लोग कोरोना जांच कराने को लेकर भयभीत और आशंकित हैं।

Share Button
Share it now!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *