हंगामेदार रहा महुआ अनुमंडल स्तरीय राशन की राशन अनुश्रवण समिति की बैठक

जनमत की पुकार ब्यूरो
वैशाली।
जन वितरण विक्रेताओं द्वारा लाभुकों पोस मशीन से निकलने वाली रसीद नहीं दिए जाने का मामला एक बार फिर जोर पकड़ लिया है। इस मुद्दे को जिला पार्षद सदस्य अशोक कुमार अकेला ने बैठक में जोर—शोर से उठाया है।
अशोक कुमार अकेला ने जनमत की पुकार को बताया कि जन वितरण विक्रेता द्वारा लाभुकों को कैश मेमो नहीं दिया जाता है। जिससे लाभुकों को सही मूल्य, मात्रा, महीना तथा यूनिट का पता नहीं चल पाता। इस तरह जन—वितरण विक्रेता लाभुकों का शोषण करते हैं 25.55 रुपए किरासन तेल का सरकारी दर है तो वहीं डीलर द्वारा 35 से 40 रुपया लिया जाता है।
श्री अकेला ने आगे बताया कि जो नए राशन कार्ड बनाये गए हैं उसमें भी बड़े पैमाने पर गड़बड़ी देखने को मिली है। गरीब लोग राशन कार्ड बनाने के लिए आरटीपीएस काउंटर महुआ में आवेदन तो दिया मगर गरिबों का आरटीपीएस नंबर पैसे लेकर संपन्न लोगों का आरटीपीएस नंबर से कार्ड बना दिया गया। गरीब लोगों का आज भी राशन कार्ड से वंचित हैं।

Share Button
Share it now!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *