श्री रामलीला महोत्सव में किया गया कुम्भकरण, मेघनाद व अहिरावण वध का मंचन

नई दिल्ली। पीतमपुरा के पीयू ब्लॉक में श्री राम लीला कमेटी द्वारा आयोजित रामलीला महोत्सव में आज कुम्भकरण, मेघनाद व अहिरावण वध का मंचन किया गया। कुम्भकरण, मेघनाद व अहिरावण वध के साथ ही श्रदालुओं ने ‘जय सिया राम’ के नारे लगाए। कलाकार अपने दृष्यों को जीवंत बनाने के लिए अपने संवादों में चैपाइयों को भी इस्तमाल कर रहे थे। hqdefault (1) के वरिष्ठ उपाध्यक्ष नरेश मेहता ने बताया कि रावण के पुतले की ऊंचाई 105 फीट, मेघनाद के पुतले की ऊंचाई 103 व कुम्भकरण के पुतलो को ऊंचाई 102 फीट होगी। उन्होंने बताया कि कमेटी आपसी भाईचारा पर सबसे ज्यादा ध्यान देती है, एवं हमारे यहां सभी धर्म व संप्रदाय के लोग राम लीला में अपना योगदान देते हैं। पिछले 20 वर्षों से मेरठ के वसीर मियां अपने पूरे परिवार के साथ हमारे यहां रावण, मेघनाद व कुम्भकरण का पुतला बना रहे हैं। नरेश मेहता ने बताया कि रावण दहन के साथ ही भीड़ को ध्यान में रखते हुए यहां सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। रावण दहन के लिए लगाये गए पुतलो में कोल्ड क्रैकर्स लगाये गए हैं जिसमे जलने का डर नहीं होता। आतिशबाजी के लिए भी लिए कोल्ड क्रैकर्स का इस्तमाल किया गया है जिससे किसी भी प्रकार का नुकसान नहीं होता। इस बार रावण दहन में हम इलेक्टानिक आतिशबाजी का भी प्रयोग कर रहे हैं। पीतमपुरा की श्री राम लीला कमेटी के प्रचार मंत्री दिनेश जैन ने बताया कि 22 अक्टूबर को रावण दहन के बाद यहां रात्रि 08 बजे से टी सिरीज के गायक कुमार विषु द्वारा भाजन संध्या का आयोजन होगा। और 23 अक्टूबर को राम राजतिलक के बाद हास्य कवि सम्मलेन का भी आयोजन किया जाएगा। जिसमें जानेमाने कवि अशोक चक्रधर, ध्रुवेन्द्र भदौरिया, डॉ. सुनील नेगी, गजेन्द्र सोलंकी, संपत शरण, डॉ. प्रवीण शुकल, शबाना शबनम आदि अपनी कविताओ से सबको हसाएंगे।

Share Button
Share it now!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *