देशद्रोही बनने से बेहतर है जहर खाकर मर जाऊं: संजय सिंह

नई दिल्ली। बर्खास्त मंत्री कपिल मिश्रा द्वारा नित लगाए जा रहे आरोपों से घिर रही आम आदमी पार्टी को प्रतिदिन अपने बचाव में सफाई देनी पड़ रही है। विदेश दौरों के दौरान देश विरोधी ताकतों से हाथ मिला लेने के आरोपों पर आप नेता संजय सिंह ने बुधवार को कहा कि देशद्रोहियों से हाथ मिलाने से बेहतर है कि मैं जहर खाकर मर जाऊं। उन्होंने कहा कि मैं विदेश दौरों पर गया जरूर हूं। मगर देश विरोधी ताकतों से हाथ नहीं मिलाया और न ही ऐसे लोगों से उनका कोई संपर्क है। बता दें कि कपिल मिश्रा ने सीबीआई को कुछ सुबूत दिए हैं जिसमें उन्होंने दावा किया है कि आप के नेता विदेश दौरे पर किन्ही खास लोगों के पैसों पर गए। ये लोग वहा देश विरोधी ताकतों से मिले हैं और उनसे चंदा लिया है। जिसमें संजय सिंह, आशीष खेतान, राघव चड्ढा, सत्येंद्र जैन और दुर्गेश पाठक के नाम प्रमुख रूप से शामिल हैं। बताया जा रहा है कि आशुतोष भी संजय सिंह के साथ गए थे। मगर कपिल ने उनका नाम नहीं लिया है। कपिल मिश्रा के आरोप पर आप नेता खासे नाराज हैं। यहां तक कि बुधवार को एक ट्वीट में आशीष खेतान ने कपिल मिश्रा को सूअर कहा। आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता और राष्ट्रीय प्रवक्ता संजय सिंह ने पार्टी कार्यालय में आयोजित हुई प्रेसवार्ता में कहा कि कपिल मिश्रा हू-ब-हू भारतीय जनता पार्टी की भाषा बोल रहे हैं। हमारी विदेश यात्राओं को लेकर एक झूठ कपिल मिश्रा ने मीडिया में आकर बोला। उन्होंने कहा कि मुझ पर पैसे कमाने का आरोप लग रहा है। जबकि मैं किराये के मकान में रहता हूं। विदेशी दौरों की बात करें तो सबसे पहले नेपाल में भूकंप पीड़ितों की सहायता करने के लिए गया था। रूस में अपने परिचित की पारिवारिक शादी समारोह में शामिल होने के लिए गया था जिसका टिकट भी हमारे उन्हीं परिचित ने कराके दिए। कनाडा और अमेरिका में पार्टी के काम से गया था जिसकी एक-एक तस्वीर मौजूद है। उन्होंने कहा कि इसमें मैंने कौन सा देशद्रोह का काम कर दिया? ये कपिल मिश्रा और भाजपा के लोग बताएं।

Share Button

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *