दिल्ली गुड्स ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी का किया धन्यवाद

  • आरके जायसवाल

नई दिल्ली। अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष राहुल गांधी ने लोकसभा चुनाव के घोषणा पत्र में डीजल एवं पेट्रोल को जीएसटी के दायरे में लाने के लिए जो घोषणा की है उसका संपूर्ण भारत का ट्रांसपोर्ट समुदाय एवं ट्रक मालिक कांग्रेस के घोषणापत्र का स्वागत करता है।

यह बातें दिल्ली गुड्स ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन (डिजीटीए) के नवनियुक्त अध्यक्ष परमीत सिंह गोल्डी ने जनमत की पुकार से बातचीत करते हुए कहीं। दिल्ली गुड्स ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन दिल्ली एवं एनसीआर के ट्रांसपोर्टरों की सर्वाेच्च संस्था है जो सन् 1977 से ट्रांसपोर्टरों एवं ट्रक मालिकों के हित के लिए कार्य कर रही है।

श्री गोल्डी ने अखबार से से कहा कि ट्रांसपोर्ट व्यवसाय जिसको भारत के अर्थव्यवस्था की रीढ़ की हड्डी कहा जाता है, आज महंगाई की मार से परेशान है। डीजल एवं पेट्रोल को जीएसटी के दायरे में लाने से सारे देश में डीजल एवं पेट्रोल के दाम लगभग 30 से 40 प्रतिशत तक कम हो जाएंगे और समस्त भारत में लगभग एक ही कीमत हो जाएगी। डीजल पर एक्साइज ड्यूटी लगभग 15.33 से 17.69 रुपए एवं राज्यकर वैट लगभग 17.24 प्रतिशत से 28 प्रतिशत है जिसके कारण डीजल एवं पेट्रोल के दाम अलग—अलग राज्यों में विभिन्न है।

ट्रांसपोर्टरों की हक की लड़ाई लड़ने वाले परमीत सिंह गोल्डी ने कहा कि डीजल एवं पेट्रोल को जीएसटी के दायरे में लाने से इनकी किमतों में जो कमी आएगी उसका फायदा छोटे एवं बड़े सभी ट्रांसपोर्ट एवं ट्रक मालिकों को होगा साथ ही आम जनता की जेब पर भी इसका भारी फायदा होगा। डीजल एवं पेट्रोल को जीएसटी के दायरे में लाने की घोषणा के बाद संपूर्ण वास्तु पर समुदाय में एक नई आशा की किरण जग गई है। गौरतलब है कि परमीत सिंह गोल्डी दिल्ली गुड्स ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन (डिजीटीए) के निर्विरोध एवं सर्वसम्मति से अध्यक्ष चुने गए हैं।

Share Button

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *