रायबरेली में सोनिया गांधी के रोड शो में लहराये गए नीले और काले झंडे, ये थी वजह

रायबरेली। यूपीए की चेयरपर्सन सोनिया गांधी ने गुरुवार को रायबरेली से पांचवीं बार नामांकन किया। इस दौरान हवन और रोड शो भी आयोजित किया गया, जिसमें भारी भीड़ उमड़ी। इस दौरान कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, बेटी प्रियंका वाड्रा के अलावा परिवार के लोग मौजूद रहे।

इस रोड शो में कांग्रेस पार्टी के झंडे के अलावा दो और अलग रंग के झंडे लहराए गए। एक नीले रंग का और दूसरा काले रंग का। नीले रंग का झंडा न्याय स्कीम के लिए और काले रंग का झंडा राफेल के खिलाफ लहराया गया। नामांकन दाखिल करने के बाद सोनिया गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चेतावनी देते हुए कहा कि 2004 मत भूलिए। उन्होंने यह भी कहा कि वाजपेयी भी अजेय थे लेकिन हम जीते।

वहीं राहुल गांधी ने मीडिया से बातचीत में कहा कि भारतीय इतिहास में ऐसे कई लोग रह हैं जो यह सोचते थे कि वह अजेय हैं और भारत के लोगों से बड़े हैं। नरेंद्र मोदी ने 5 साल में भारत के लोगों के लिए कुछ नहीं किया। वह बस इतना बता दें कि उन्होंने अनिल अंबानी को ठेका कैसे दिया?

नामांकन के बाद प्रियंका गांधी ने ट्वीट किया कि रायबरेली की जनता के प्रति मेरी मां की श्रद्धा से हर प्रत्याशी और हर राजनेता को सीखना चाहिए। राजनीति का मकसद जनसेवा और समर्पण है। जिसे भी यह मौका मिलता है, उसे जनता का शुक्रगुजार होना चाहिए। बता दें कि सोनिया गांधी ने रायबरेली लोकसभा सीट से पांचवीं बार नामांकन दाखिल किया है।

न्‍याय स्‍कीम को मिल रही प्रतिेक्रिया से कांग्रेस गदगद 
कांग्रेस ने सियासी जमीन वापस पाने और भाजपा को मात देकर सत्ता में वापसी के लिए न्यूनतम आय योजना (NYAY) को लागू करने का एलान किया है। इस योजना के तहत देश के करीब 5 करोड़ गरीब परिवारों को सालाना 72 हजार रुपये दिए जाने का वादा किया गया है। इस योजना पर लोगों की मिल रही प्रतिेक्रिया से कांग्रेस गदगद है और वे इसे लोकसभा चुनाव के दौरान सबसे बड़े चुनावी हथियार के तौर पर अपना रही है। यही वजह है कि कांग्रेस ‘अब होगा न्याय’ के नारे के साथ लोकसभा चुनाव के चुनावी मैदान में उतरी है।

सुप्रीम कोर्ट में राफेल को लेकर सुनवाई  
ज्ञात हो कि राफेल लड़ाकू विमान सौदे को लेकर नरेंद्र मोदी सरकार विपक्षी दलों के निशाने पर है। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी आए दिन पीएम मोदी पर राफेल डील को लेकर निशाना साधते रहते हैं। बुधवार को राफेल मामले पर सुप्रीम कोर्ट से केंद्र सरकार को बड़ा झटका लगा है।

सुप्रीम कोर्ट राफेल मामले पर दोबारा सुनवाई के लिए तैयार हो गया है। राफेल मामले पर सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र की दलीलों को खारिज कर दिया था। सुप्रीम कोर्ट ने रक्षा से लीक हुए दस्तावेजों की वैधता को मंजूरी दी है। शीर्ष कोर्ट के फैसले के मुताबिक याचिकाकर्ता के दिए दस्तावेज अब सुनवाई के हिस्सा होंगे।

अमेठी में भी पीएम मोदी पर बरसे थे राहुल 
अमेठी लोकसभा सीट से कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने दस अप्रैल को नामांकन दाखिल किया था। नामांकन भरने से पहले उन्होंने रोड शो निकाला। इस दौरान उनके साथ उनका पूरा परिवार मौजूद था। रोड शो के दौरान पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा, रॉबर्ट वाड्रा, बेटे रेहान, बेटी मिराया मौजूद थे।

यूपीए चेयरपर्सन सोनिया गांधी रोड शो में तो मौजूद नहीं थीं, लेकिन वह बाद में नामांकन के वक्त राहुल गांधी के साथ दिखीं। नामांकन भरने के बाद राहुल गांधी जमकर पीएम मोदी पर बरसे थे। उन्होंने राफेल डील में घोटाले को लेकर पीएम मोदी को घेरा था। यही कारण है कि कांग्रेस न्‍याय स्‍कीम और राफेल डील के जरिये फिर से माहौल बनाने में लगी है।

Share Button

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *